Gandhi Jayanti Celebration 2 October 2016

By


Gandhi Jayanti Celebration 2016

Gandhi Jayanti Celebration In Hindi; The Honorable President And Prime Minister Of The India Are Present On This National Ceremony With Prayer Of ‘Raghupati Raghava Raja Ram’ Favorite Devotional Song In This Remembrance. Gandhi Jayanti Conventionally Observed With Singing Prayers, Meeting, Lighting Candles, Commemorative Ceremonies And Offering Flowers On Gandhiji, S Statue Or Photo InVarious Cities And All Parts Of The Country. His Patriotic And Valuable Philosophy Inspires All The Indians AsThe Ideal Person For Independence Of India. We Are Bringing Here Some Best Gandhi Jayanti Celebration, Speech, Essay, Images, Quotes, And Photos.


Gandhi Jayanti Celebration
Gandhi Jayanti Celebration
Mahatma Gandhi Jayanti Celebrated All Over The Country In Different Government And NonGovernment Organization. Share Speech On Gandhi Jayanti, Sms, Images And Messages With Your Friends & Family. Mahatma Gandhi Had A Natural Love For Truth And Duty.


Gandhi Jayanti Celebration In Hindi /English

Happiness Is When What You Think, What You Say, And What You Do Are In Harmony.
Mahatma Gandhi


Gandhi Jayanti Celebration
Gandhi Jayanti Celebration
The Weak Can Never Forgive. Forgiveness Is The Attribute Of The Strong .- Mahatma Gandhi

My Life Is My Message. –
Mahatma Gandhi

An Eye For An Eye Only Ends Up Making The Whole World Blind.
 Mahatma Gandhi


Gandhi Jayanti Celebration
Gandhi Jayanti Celebration
There Is A Sufficiency In The World For Man’s Need But Not For Man’s Greed.
 Mahatma Gandhi

A Small Body Of Determined Spirits Fired By An Unquenchable Faith In Their Mission Can Alter The Course Of History.
Mahatma Gandhi

Satisfaction Lines In The Effort, Not In The Attainment, Full Efforts Is Full Victory.
Mahatma Gandhi


Gandhi Jayanti Celebration
Gandhi Jayanti Celebration
Strength Does Not Come From Physical Capacity. It Comes From An Indomitable Will.
Mahatma Gandhi

Nobody Can Hurt Me Without My Permission
Mahatma Gandhi


Gandhi Jayanti Celebration
Gandhi Jayanti Celebration
There Is Nothing That Wastes The Body Like Worry, And One Who Has Any Faith In God Should Be Ashamed To Worry About Anything Whatsoever.
Mahatma Gandhi

Mahatma Gandhi Book: Mere Sapno Ka Bharat

मेरे सपनो का भारत

Mere Sapno Ka Bharat
Mere Sapno Ka Bharat
भारत की हर चीज मुझे आकर्षित करती है सर्वोच्च आकांक्षाये रखने वाले किसी व्यक्ति को अपने विकाश के लिए जो कुछ चाहिए , वह सब उसे भारत में मिल सकता है |

भारत अपने मूल सवरूप में कर्मभूमि है , भोगभूमि नहीं |

भारत दुनिया के उन इने गिने देशो में से है , जिन्होंने अपनी अधिकांश पुरानी संस्थाओ को , कायम रखा है | साथ ही वह अभी तक अंध – विश्वास और भूल – भ्रान्तियो की इस इकाई को दूर करने की और इस तरह अपना शुद्ध रूप प्रकट करने की अपनी सहज क्षमता भी प्रकट करता है | उसके लाखों करोड़ो निवासियों के सामने जो आर्थिक कठिनाईयां खडी है , उन्हें सुलझा सकने की उनकी योग्यता में मेरा विश्वास इतना उज्जवल कभी नहीं रहा जितना आज है |

मेरा विश्वास है की भारत का ध्येय दुसरे देशो के ध्येय से कुछ अलग है | भारत में ऐसी योग्यता है की वह धर्म के छेत्र में दुनिया में सबसे बड़ा हो सकता है | भारत ने आत्मशुद्धि के लिए स्वेच्छापूर्वक जैसा प्रयत्न किया है , उसका दुनिया में कोई दूसरा उदाहरण नहीं मिलता | भारत को फोलाद के हथियारों की उतनी आवश्यकता नहीं है , वह हथियारों से लड़ा है और आज भी वह उन्ही हथियारों से लड़ सकता है | दुसरे देश पसुबल के पुजारी रहे है | यूरोप में अभी जो भयंकर युद्ध रहा है , वह इस सत्य का एक प्रभावशाली उदाहरण है | भारत अपने आत्मबल से सबको जीत सकता है | इतिहास इस सच्चाई को चाहे जितने प्रमाण दे सकता है की पशुबल आत्मबल की तुलना में कुछ नहीं है | कवियों ने इस बल की विजय के गीत गए है और ऋषिओं ने इस विषय में अपने अनुभवों का वर्णन करके उसकी पुष्ठी की है |

यदि भारत तलवार की नीति अपनाये, तो वह क्षणिक सी विजय पा सकता है। लेकिन तब भारत मेरे गर्व का विषय नहीं रहेगा। मैं भारत की भक्ति करता हूँ, क्योंकि मेरे पास जो कुछ भी है वह सब उसी का दिया हुआ है। मेरा पूरा विश्वास है कि उसके पास सारी दुनिया के लिए एक सन्देश है। उसे यूरोप का अन्धानुकरण नहीं करना है। भारत के द्वारा तलवार का स्वीकार मेरी कसौटी की घड़ी होगी। मैं आशा करता हूँ कि उस कसौटी पर मैं खरा उतरूँगा। मेरा धर्म भौगोलिक सीमाओं से मर्यादित नहीं है। यदि उसमें मेरा जीवंत विश्वास है तो वह मेरे भारत-प्रेम का भी अतिक्रमण कर जायेगा। मेरा जीवन अहिंसा-धर्म के पालन द्वारा भारत की सेवा के लिए समर्पित है।

स्वराज्य का अर्थ

स्वराज्य एक पवित्र शब्द है ; वैदिक शब्द है , जिसका अर्थ आत्म शासन और आत्म संयम है | स्वराज्य से मेरा अभिप्राय है लोक सम्पत्ति के अनुसार होने वाला भारतवर्ष का शासन |  लोक सम्पत्ति का निश्चय देश के बालिग लोगो को बड़ी से बड़ी तादात के मत के जरिये हो , फिर वे चाहे स्त्रियाँ हो या पुरुष , इस देश के हो या देश में आकर बस गए हो जिन्होंने अपने शारारिक श्रम के द्वारा राज्य की कुच्छ सेवा की हो और जिन्होंने मतदाताओ की सूचि में अपना नाम लिखवा लिया हो .... सच्चा स्वराज्य थोड़े लोगो के द्वारा सत्ता कर लेने से नहीं बल्कि जब सत्ता का दुरुपयोग होता हो तब सब लोगो के द्वारा उसका प्रतिकार करने की क्षमता प्राप्त करके हासिल किया जा सकता है | दुसरे शब्दों में स्वराज्य जनता में इस बात का ज्ञान पैदा करके प्राप्त किया जा सकता है की सत्ता पर कब्ज़ा करने और उसका नियमन करने की क्षमता उसमे है |


आखिर स्वराज्य निर्भर करता है हमारी आंतरिक शक्ति पर , बड़ी से बड़ी कठिनाईयों से जूझने की हमारी ताकत पर |

Trending on Events

0 comments:

Post a Comment